Join Indian Army: Indian Army Kaise Bane

0
Join Indian Army
Join Indian Army

Join Indian Army

Join Indian Army: Indian Army को भारतीय सशस्त्र बलों की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी शाखा माना जाता है। सशस्त्र बलों की प्रमुख जिम्मेदारी व्यक्तियों को जमीन पर लड़ने के लिए प्रशिक्षित करना है। Indian Army में विभिन्न डिवीजन होते हैं। Indian Army देश की भौगोलिक सीमाओं की रक्षा करती है और युद्ध की स्थिति में दुश्मन के इलाके से लड़ती है। सेना के प्रशिक्षण में रक्षात्मक और आक्रामक दोनों तरह के प्रशिक्षण शामिल हैं।

इसे भी देखे:

Indian Army प्राकृतिक आपदाओं के दौरान राहत और बचाव अभियान चलाने और उग्रवाद से निपटने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। Indian Army में उपलब्ध अवसर बहुत अधिक हैं। कोई अन्य करियर आपके कौशल को उन्नत करने के लिए इस तरह के अभूतपूर्व अवसर प्रदान नहीं करता है।

इंडियन आर्मी योग्यता (Eligibility to become Army Officer)

Indian Army बनने के लिए आवश्यक न्यूनतम योग्यता कक्षा 12 है। Indian Army बनने की विस्तृत प्रक्रिया नीचे दी गई है:

Army Officer National Defence Academy (NDA) Eligibility 10+2 Technical Entry Scheme (TES) Eligibility
शैक्षिक योग्यता उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से स्नातक उत्तीर्ण होना चाहिए। उम्मीदवारों को कम से कम 70% कुल मिलाकर कक्षा 12 पूरी करनी चाहिए।
आयु सीमा 18 से 42 वर्ष 18 से 42 वर्ष
पात्रता पथ उम्मीदवार को Chemistry, Botany, Animal Husbandry & Veterinary Science, Geology, Mathematics, Physics, Zoology, जैसे निम्नलिखित विषयों में से किसी एक में स्नातक उत्तीर्ण होना चाहिए। उम्मीदवार को भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित विषयों में 12वीं उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
Selection Process चयन प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाएगा चयन लिखित परीक्षा के आधार पर होगा
Training Process उम्मीदवारों को वर्ष में दो बार प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रदान किए जाएंगे उम्मीदवारों को Officers Training Academy (OTA) में एक साल का प्रशिक्षण और कैडेट प्रशिक्षण विंग में चार साल का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
Entrance Exam UPSC IFS JEE Main
Cutoff पेपर के प्रत्येक भाग में अलग से न्यूनतम 40% अंक और कुल मिलाकर 50% का औसत। 80% to 88%
Where to Apply Join Indian Army Official Website Join Indian Army Official Website

 

इसे भी देखे: Principal kaise bane? स्कूल प्रधानाचार्य कैसे बने?

Types of Job Roles Army Officer

Join Indian Army
Join Indian Army

Indian Army को विभिन्न डिवीजनों में बांटा गया है। भर्ती परीक्षाओं में आवश्यक योग्यता, कौशल और प्रदर्शन वाले उम्मीदवारों को निम्नलिखित संभागों में रोजगार मिलेगा।

Name of the Post Description
Infantry पैदल सेना में सशस्त्र सैनिक शामिल होते हैं जो स्वचालित राइफल, सेल्फ-लोडिंग राइफल, मशीन गन, स्वचालित राइफल आदि जैसे उपकरणों का उपयोग करके पैदल दुश्मन से लड़ते हैं। पैदल सेना विंग के अधिकारियों को हथियारों से निपटने में गहन प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इन्फैंट्री अधिकारी मैदान में सेवा करने, जमीन पर किसी भी खतरे के खिलाफ हमारे देश की रक्षा करने, दुश्मन बलों को पकड़ने, नष्ट करने और उन्हें रोकने, टोही में सहायता करने आदि के लिए जिम्मेदार हैं।
Armoured Corps Armoured Corps में टैंक और अन्य Armoured वाहनों की बटालियन शामिल हैं। इनका उपयोग पैदल सेना के साथ दुश्मन के इलाके पर कब्जा करने या उससे लड़ने के लिए किया जाता है। वे युद्ध में दुश्मन के टैंकों को उलझाकर स्थिति की रक्षा भी करते हैं। ये अधिकारी Armoured युद्ध के संचालन के लिए जिम्मेदार हैं।
Artillery आर्टिलरी के अधिकारी अपने युद्धाभ्यास के लिए लंबी दूरी की फील्ड गन, मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्चर और मिसाइलों का इस्तेमाल करते हैं। वे हमलावर और रक्षात्मक ऑपरेशन करते हैं। ये अधिकारी बंदूकें, तोपों, हॉवित्जर और रॉकेट की स्थिति, रखरखाव और आग के लिए जिम्मेदार हैं।
Army Engineers सेना के इंजीनियरों की प्रमुख जिम्मेदारी सड़क, हेलीपैड, हवाई क्षेत्र, पुल आदि का जल्द से जल्द निर्माण करना है ताकि रक्षा बलों के तीनों खंड तेजी से आगे बढ़ सकें। वे दुश्मन के ठिकानों को भी नष्ट कर देते हैं और दुश्मन सैनिकों की उन्नति के लिए बाधाओं का कारण बनते हैं। ये अधिकारी या तो किलेबंदी का उपयोग करके या नई तकनीक और हथियार आदि डिजाइन करके सैनिकों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होते हैं।
Signal Regiment Officers सिग्नल रेजिमेंट के अधिकारी युद्ध के दौरान Indian Army के मुख्यालय और आगे की स्थिति के बीच संचार लिंक के त्वरित रखरखाव और कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार होते हैं। वे इलेक्ट्रॉनिक युद्ध के लिए भी जिम्मेदार हैं। ये अधिकारी सिग्नल कोर का नेतृत्व करने के लिए जिम्मेदार हैं, जो सेना की संचार की संपूर्ण प्रणालियों के लिए जिम्मेदार है।
Army Service Corps (ASC) ASC कर्मी या अधिकारी वाहनों, सैनिकों, हथियारों और गोला-बारूद आदि की आवाजाही के लिए जिम्मेदार होते हैं। ये अधिकारी राशन, हथियार और गोला-बारूद, कपड़े और विशेष उपकरणों के सुरक्षित भंडारण के लिए भी जिम्मेदार होते हैं। ये अधिकारी खाद्य राशन, ताजी और सूखी खाने योग्य वस्तुओं आदि की आपूर्ति के प्रावधान, खरीद और वितरण के लिए जिम्मेदार हैं।
Intelligence Corps ये अधिकारी अपनी योजनाओं और गतिविधियों सहित दुश्मन सैनिकों के बारे में जानकारी के संग्रह, विश्लेषण और व्याख्या में शामिल होते हैं। ये अधिकारी सूचना एकत्र करने और खुफिया विश्लेषण के लिए जिम्मेदार हैं।
Army Medical Corps सेना चिकित्सा कोर में डॉक्टर शामिल हैं, और उनकी प्रमुख जिम्मेदारी सैनिकों के परिवारों और सशस्त्र बलों के अधिकारियों के लिए चिकित्सा देखभाल प्रदान करना है। ये अधिकारी सैनिकों और उनके परिवारों और आपातकालीन स्थितियों में नागरिकों को चिकित्सा सहायता के प्रावधान का समर्थन और प्रशासन करने के लिए जिम्मेदार हैं।

 

Indian Army लिए रोजगार के अवसर

भारतीय सशस्त्र बल भारत में सेना के अधिकारियों की एकमात्र भर्ती है। निजी क्षेत्र में कोई रोजगार नहीं है, और सरकारी क्षेत्र में रोजगार स्थायी है। हालांकि, उम्मीदवारों को Indian Army में रोजगार पाने के लिए लिखित, शारीरिक और चिकित्सा परीक्षणों को पास करना होगा। लिखित और अन्य परीक्षाओं को पास करने के बाद उम्मीदवारों को सैन्य प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा। प्रशिक्षण के सफल समापन के बाद, उम्मीदवारों को Indian Army के विभिन्न डिवीजनों में तैनात किया जाएगा।

इसे भी देखे:  Police Kaise Bane – पुलिस कैसे बने? पूरी जनकारी

Indian Army लिए शीर्ष भर्ती एजेंसियां

सेना अधिकारियों के लिए शीर्ष भर्ती एजेंसियां

Indian Army का वेतनमान / वेतन

भारत सरकार सेना के अधिकारियों को आकर्षक वेतन देती है।

पद का नाम वेतन प्रति माह
Captain रु. 15,600 से 39,100
Major रु. 15,600 से 39,100
लेफ्टिनेंट कर्नल रु. 37,400 से रु. 67,000
कर्नल रु. 37,400 से रु. 67,000

वेतन के अलावा, सेना के अधिकारी कई लाभों और सब्सिडी का आनंद लेते हैं।

नोट: उपरोक्त आंकड़े एक अनुमान हैं और अलग-अलग व्यक्तियों में भिन्न हो सकते हैं।

आर्मी ऑफिसर बनने के फायदे

  • स्थायी नौकरी
  • आकर्षक वेतन

आर्मी ऑफिसर बनने के नुकसान

  • खतरनाक काम करने की स्थिति
  • परिवार से दूर रहना

आर्मी बनने के लिए कितना पढ़ना पड़ता है?

इच्छुक उम्मीदवार सेना में शामिल होने के लिए 10वीं, 12वीं या स्नातक के बाद आवेदन कर सकते हैं। सेना भर्ती कार्यालयों द्वारा हर साल अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में भर्ती के लिए रैली प्रक्रिया भी आयोजित की जाती है।

इंडियन आर्मी में कितनी एज मांगते हैं?

सेना भर्ती आयु: यदि आप में जज्बा और जुनून है तो आप भारतीय सेना में 42 साल तक भारतीय सेना भर्ती के लिए आवेदन कर सकते हैं। भारतीय सेना युवाओं को सेना में भर्ती होने का सुनहरा अवसर प्रदान करती है।

इंडियन आर्मी में हाइट कितनी चाहिए 2021?

आर्मी भर्ती के लिए कितनी हाइट होनी चाहिए ? प्रादेशिक सेना के लिए उम्मीदवार की लम्बाई 160 सेमी होनी चाहिए।

आर्मी की नौकरी कितने साल की होती है?

सेना के अधिकारी कर्नल 54 साल, ब्रिगेडियर 56 साल, मेजर जनरल 58 साल और लेफ्टिनेंट जनरल 60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त होते हैं, लेकिन वर्तमान में सैनिकों को 19 साल की सेवा के बाद सेवानिवृत्ति मिलती है। फिर उनमें से ज्यादातर 40 साल से कम उम्र के हैं।

Army की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक Army को हर महीने करीब 25,000 रुपये नकद मिलते हैं. इसके अलावा लांस नायक को करीब 30,000 रुपये और हवलदार को करीब 40,000 रुपये महीने मिलते हैं। जूनियर कमीशंड अधिकारियों की तरह सूबेदार रैंक के अधिकारियों को भी अलग-अलग भत्ते मिलते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here